डॉ. बी. एस. तोमर शाकीय विज्ञान विभाग
अध्यक्ष
फोन : 011-25846628
फैक्स : 011-25847148
ई-मेल : head_veg[at]iari[dot]res[dot]in

 

भा.कृ.अ.सं., नई दिल्ली में सब्जियों में सुधार कार्य की शुरुआत 1940 में तत्कालीन वनस्पति विज्ञान संभाग में सब्जियों के एक छोटे अनुभाग की स्थापना के साथ हुई जो बाद में 1956 में औद्यानिकी संभाग की स्थापना के पश्चात उसका एक अंग बन गया। औद्यानिकी संभाग का उद्देश्य सब्जियों सहित सभी प्रमुख बागवानी फसलों में अनुसंधान करना और स्नातकोत्तर प्रशिक्षण प्रदान करना था। वर्ष 1970 में शाकीय फसलें एवं पुष्पविज्ञान संभाग के सृजन के पश्चात अनुसंधान कार्य को और बल प्राप्त हुआ। वर्ष 1982 में पुष्पविज्ञान, शाकीय फसल संभाग से अलग हो गया और यह संभाग सब्जी फसलों के रूप में स्वतंत्र रूप से कार्य करने लगा। वर्ष 2004 में इसे सब्जी विज्ञान नाम दिया गया। इस संभाग के अधिदेश इस प्रकार हैं –

 

  • सब्जी फसलों में सुधार एवं उत्पादन प्रौद्योगिकी पर व्यावहारिक और कार्यनीतिपरक अनुसंधान करना।
  • मानव संसाधन विकास के लिए स्नातकोत्तर शिक्षा और प्रशिक्षण प्रदान करना।
  • सब्जी वाली फसलों में हुई नवीनतम प्रगतियों पर सूचना को प्रचारित करना।
  • फसल एवं बीजोत्पादन प्रौद्योगिकी तथा सब्जी फसलों के सुधार पर परामर्शदायी एवं सलाहकार सेवाएं प्रदान करना।
  • राष्ट्रीय पादप आनुवंशिक संसाधन ब्यूरो के सहयोग से विभिन्न सब्जी वाली फसलों से संबंधित जैव-विविधता संबंधी सामग्री को एकत्र करना, उसका मूल्यांकन करना, शुद्धिकरण और परिरक्षण करना तथा प्रजनन कार्यक्रम में वांछित श्रेष्ठ जीनप्ररूपों का उपयोग करना।