संभाग की मुख्‍य उपलब्धियां हैं :

  • खेतीहर फसलों (चावल, सूरजमुखी, मक्‍का, तोरिया, सरसों) तथा सब्जियों (टमाटर, बैंगन, फूलगोभी और खीरा-ककड़ी वर्गीय) के लिए संकर बीज उत्‍पादन प्रौद्योगिकी का विकास
  • भा.कृ.अ.सं. की किस्‍मों (खेतीहर और सब्‍जी फसलें) के बीजों के उत्‍पादन और विपणन का समन्‍वयन
  • डीयूएस परीक्षण निर्देशिका का विकास (अनाज, दालें, तिलहन और रेशेदार फसलों) और आकृतिमूलक, जैव रासायनिक और आण्विक मार्करों के साथ डीयूएस परीक्षण का सरलीकरण
  • बीज क्‍वालिटी मूल्‍यांकन और संवर्धन के लिए परिशुद्ध प्रौद्योगिकियों का शोधन
  • बीज हृास और दृढ़ीकरण की यांत्रिकी का आधारभूत अध्‍ययन
  • गैर अन्‍वेषित लेकिन व्‍यावसायिक दृष्टि से महत्‍वपूर्ण किस्‍मों के लिए बीज परीक्षण प्रक्रिया का मानकीकरण
  • बीज प्रौद्योगिकी के विभिन्‍न पथों पर स्‍नातकोत्‍तर शिक्षण तथा राष्‍ट्रीय व अन्‍तरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर प्रशिक्षण देना

 

व्‍यावसायिक गतिविधियां

     बीज विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी संभाग, भारतीय बीज प्रौद्योगिकी सोसायटी का भी मुख्‍यालय है। इस सोसायटी से 'सीड रिसर्च' (अर्ध वार्षिक) और 'सीड टेक्‍नीकल न्‍यूज़' (पाक्षिक) भी प्रकाशित होते हैं।