फसल के जड़ क्षेत्र में मौजूद मृदा में अतिरिक्‍त जल और लवण पौधों के लिए क्षतिकारी सिद्ध होते हैं। घटीय जल निकासी वाली मृदाओं में फसल की उपज अत्‍यधिक कम हो सकती है। यदि लंबे समय तक जल भरा रहे तो अंतत: पौधों की जड़ो को ऑक्‍सीजन नहीं मिल पाती है और पौधे मर जाते हैं। घटिया जल निकासी वाले खेतों से कृत्रिम रूप से जल निकासी करना आवश्‍यक है ताकि फसल के जड़क्षेत्र मे इष्‍टतम वायु-जल-लवण अनुपात सुरक्षित किया जा सके।
 
आगे पढ़े .....